भारत लाया गया गैंगस्टर रवि पुजारी, कल मजिस्ट्रेट के सामने किया जाएगा पेश

0
270

कर्नाटक के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने कहा कि रवि पुजारी कल मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा.

माना जाता है कि पुजारी छोटा राजन का काफी करीबी रह चुका है लेकिन साल 2000 में वह अलग हो गया था.

नई दिल्ली: पिछले 15 सालों से फरार चल रहे गैंगस्टर रवि पुजारी को पश्चिम अफ्रीका के सेनेगल से गिरफ्तार कर लिया गया था. अब उसे कड़ी सुरक्षा के बीच भारत लाया गया है. पुलिस सोमवार तड़के सुबह उसे लेकर बेंगलुरु के केंपेगौड़ा इंटरनैशनल एयरपोर्ट पहुंची. पुजारी को 22 जनवरी को सेनेगल की राजधानी डकार के एक होटल से पकड़ा गया था. 2019 की शुरुआत में भारत द्वारा किए गए प्रत्यर्पण अनुरोध के बाद उसे 22 फरवरी को सेनेगल से प्रत्यर्पित किया गया था.

कर्नाटक के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) अमर कुमार पांडे ने कहा, वह (रवि पुजारी) कल मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया जाएगा, हम उसकी न्यायिक हिरासत के लिए मांग करेंगे. वह पूरी तरह से फिट है और जांच प्रक्रिया में सहयोग कर रहा है.

2000 के शुरुआती दशक में सुर्खियों में आया था पुजारी

पुजारी सबसे पहले 2000 के शुरुआती दशक में सुर्खियों में आया था, जब उसने बॉलीवुड की प्रसिद्ध हस्तियों और बिल्डरों से वसूली करना शुरू किया था. वह मुंबई के एक प्रतिष्ठित वकील की हत्या के प्रयास में भी संलिप्त था. पुजारी की पत्नी पद्मा और बच्चे भी भारत से भाग गए और उनमें से कुछ ने जाली दस्तावेजों से बुर्किना फासो का पासपोर्ट हासिल कर लिया. पुजारी के बेटे ने हाल ही में कथित रूप से ऑस्ट्रेलिया में शादी की है और उसके पास ऑस्ट्रेलिया का पासपोर्ट है. इससे पहले पिछले साल एंथॉनी के नाम से रह रहे पुजारी ने धोखाधड़ी से सेनेगल कोर्ट से जमानत हासिल की थी. माना जाता है कि पुजारी छोटा राजन का काफी करीबी रह चुका है लेकिन साल 2000 में वह अलग हो गया था.

छोटा राजन से क्यों दूर हुआ पुजारी

दोनों के बीच दूरियां तब बढ़ी जब छोटा राजन डी कंपनी के साथ बैंकॉक में जुड़ गया. बहुत कम ही लोग थे जो छोटा राजन का ठिकाना जानते थे उसमें से रवि पुजारी भी था. कहा जाता है कि दाउद के लिए पुजारी ने ही बैंकॉक में रहने के लिए ठिकाना तय किया था. यही कारण था कि पुजारी और राजन के बीच मतभेद देखने को मिला. छोटा राजन से अलग होने के बाद वह अलग गैंग बनाया और खुद को हिंदू डॉन बताने लगा. उसने अपना मेंटॉर छोटा राजन को बताया. पुजारी पहले मुंबई के अंधेरी इलाके में ऑटो रिक्शा चलाता था. वह दाउद के लिए 90 के दशक में काम करना शुरू किया था. पुजारी साल 1993 में दाउद के गैंग से अलग हो गया.

रवि पुजारी के ऊपर कई तरह के केस दर्ज हैं. जिनमें से हत्या, हत्या करने का आरोप, महाराष्ट्र, गुजरात और कर्नाटक में पैसे की उगाही समेत कई मामले हैं. साल 2000 में वह अपने गैंग में भरत नेपाली, हेमंत पुजारी, विजय शेट्टी को शामिल किया.

किन-किन कलाकारों को धमकी दे चुका है रवि पुजारी

प्रसिद्ध होने के लिए उसने बॉलीवुड के टॉप कलाकारों को धमकी देना शुरू किया. जिनमें से शाहरुख खान, सलमान खान और अक्षय कुमार समेत कई कलाकार शामिल हैं. मीडिया का ध्यान खींचने के लिए उसने नेस वाडिया और प्रीति जिंटा को भी धमकी दिया गया था. पुजारी अरिजीत सिंह को अपने एक कार्यक्रम में स्टेज शो करने के लिए भी धमकी दे चुका है. पुलिस के मुताबिक रवि पुजारी पर कर्नाटक में उगाही के 96 मामले दर्ज हैं.

यह भी पढ़ें-

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here